चिट्ठाजगत www.hamarivani.com

मंगलवार, 8 जनवरी 2013

रक्तबीज और महाकाली !



मैं  "दामिनी "
तुम्हें चुनौती देती हूँ ,
मैंने अपना बलिदान दिया
या फिर तुमने
मुझे मौत के हवाले किया हो ,
तब भी मैं
अब हर उस दिल में
जिन्दा रहूंगी,
एक आग बनकर ,
जब तक कि 
इन नराधम , अमानुषों को
उनके हश्र तक न पहुंचा दूं।
सिर्फ वही क्यों?
उस दिन के बाद से
मेरी बलि के बाद भी
अब तक उन जैसे
सैकड़ों दुहरा रहे हैं इतिहास ,
वो इतिहास जो
मेरे साथ गुजरा था
रोज दो चार मुझ जैसी
मौत के मुंह में जाकर
या फिर
मौत सी यंत्रणा में
जीने को मजबूर हैं।
वे तो अभी दण्ड के लिए
एकमत भी नहीं है ,
और हो भी नहीं पायेंगे .
क्यों?
इसलिए की उनके अन्दर भी
वही पुरुष जी रहा है,
क्या पता
कल वही अपने अन्दर के
नराधम से हार जाएँ ?
और वह भी
कटघरे में खड़े होकर
उस दण्ड के भागीदार न हों।
अभी महीनों वे
ऐसे अवरोधों के चलते
और ताकतवर होते रहेंगे।
अब मैं नहीं तो क्या ?
हर लड़की इस धरती पर
महाकाली बनकर जन्म लेगी
और इन रक्तबीजों के
लहू से खप्पर भरकर
बता देंगी कि
अब वे द्रोपदी बनकर
कृष्ण को नहीं पुकारेंगी।
खुद महाकाली बनकर
सर्वनाश करेंगी।
इन रक्तबीजों के मुंडों की माला
पहन कर जब निकलेगी
तो ये नराधम
थर-थर कांपते हुए
सामने न आयेंगे .
हमें किसी दण्ड या न्याय की
दरकार होगी ही नहीं,
वे सक्षम होंगी
और समर्थ होंगी।
ये साबित कर देंगी।
ये साबित कर देंगी।

16 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

मुर्दों में प्राण फूँकती अच्छी रचना!

आर्यावर्त डेस्क ने कहा…

प्रभावी !!
जारी रहें।

शुभकामना !!

आर्यावर्त (समृद्ध भारत की आवाज़ )

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

न्याय करनेवाले?
कहीं नहीं कोई .आप कह रही हैं वही होना है!

Unknown ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट पोस्ट की चर्चा बुधवार (09-01-13) के चर्चा मंच पर भी है | अवश्य पधारें |
सूचनार्थ |

ओंकारनाथ मिश्र ने कहा…

इसी की ज़रुरत है...सुन्दर रचना.

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

आमीन .... ऐसा ही हो ।

Anju (Anu) Chaudhary ने कहा…

न्याय होगा ???
आज का ये ज्वलंत प्रश्न है

Arun sathi ने कहा…

aakros/////sarthak rachna

Anita Lalit (अनिता ललित ) ने कहा…

आमीन!
काश! ऐसा ही हो !
बस! यही जज़्बा चाहिए, यही आग चाहिए ... हर नारी के भीतर की यही आवाज़ है !
~सादर!!!

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

आपकी किसी नयी -पुरानी पोस्ट की हल चल बृहस्पतिवार 10 -01 -2013 को यहाँ भी है

....
सड़कों पर आन्दोलन सही पर देहरी के भीतर भी झांकें.... आज की हलचल में.... संगीता स्वरूप. .

Amrita Tanmay ने कहा…

जय हो..

علياء زهران محمد ने कहा…

السفير المثالي للتنظيف ومكافحة الحشرات بالمنطقة الشرقية
https://almthaly-dammam.com
واحة الخليج لنقل العفش بمكة وجدة ورابغ والطائف
https://jeddah-moving.com
التنظيف المثالي لخدمات التنظيف ومكافحة الحشرات بجازان
https://cleaning6.com
ركن الضحى لخدمات التنظيف ومكافحة الحشرات بجازان
https://www.rokneldoha.com
الاكمل كلين لخدمات التنظيف ومكافحة الحشرات بالرياض
https://www.alakml.com
النخيل لخدمات التنظيف ومكافحة الحشرات بحائل
http://alnakheelservice.com


Ahmed zezo ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Ahmed zezo ने कहा…

شركة تنظيف منازل

Ahmed zezo ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
يحي سامي ने कहा…


شركة مكافحة حشرات بابها
شركة مكافحة حشرات بخميس مشيط
شركة تسليك مجاري بخميس مشيط
شركة تسليك مجاري بابها
شركة تنظيف مجالس بابها
شركة تنظيف خزانات بابها
شركة تنظيف خزانات بخميس مشيط
شركة تنظيف مجالس بخميس مشيط