शनिवार, 23 फ़रवरी 2013

हाईकू !

रिश्तों में देखें
ईमान भावना का
ताउम्र रहें .
********
रिश्ते का घर
प्रेम से ही जोडिए
पुख्ता रहेगा .
******
कौन करेगा
रिश्तों में वो यकीन
जिसे होना हो।
*******
 माँ की कोख से
मैं बुजुर्ग हो गयी
दिए तानों से .
******
नारी दिवस
कुछ भाषण दिए
फिर गालियाँ . .
*******.
सृष्टि बदलो
गर्भ में अब से ही
बेटों को मारो.
*******
 लाशें पूछती 
सवाल हैवानों से 
मेरा कुसूर ? 
********
मंशा अपनी 
हमको बताये वे 
देना आता है. 
*******
रक्त पिपासु 
ये निर्दोषों का रक्त 
व्यर्थ न होगा .
********
रोती आँखों से 
सवाल करते वे 
मेरा कुसूर ? 
*******
खबर मिली 
चुप बैठे हैं हम 
हादसा हो तो .
*******



7 टिप्‍पणियां:

रविकर ने कहा…

मस्त हाइकु -
आभार आदरेया ||

सदा ने कहा…

रोती आँखों से
सवाल करते वे
मेरा कुसूर ?
वाह ...बेहतरीन
सभी हाइकू एक से बढ़कर एक ...
आभार

दिनेश पारीक ने कहा…

बहुत उम्दा पंक्तियाँ ..... वहा बहुत खूब एक बहतरीन रचना

मेरी नई रचना

खुशबू

प्रेमविरह

Udan Tashtari ने कहा…

उम्दा हाईकु!!

शालिनी कौशिक ने कहा…

बहुत सुन्दर अकलमंद ऐसे दुनिया में तबाही करते हैं . आप भी जानें हमारे संविधान के अनुसार कैग [विनोद राय] मुख्य निर्वाचन आयुक्त [टी.एन.शेषन] नहीं हो सकते

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

आक्रोश दिखाते सशक्त हाइकु

Sadhana Vaid ने कहा…

सही सवाल करते और उनका जवाब माँगते सार्थक हाईकू !