रविवार, 2 सितंबर 2012

हाइकू !

आज के हाइकू है प्रदूषण पर  आधारित  .................. 

पानी का रंग
काला, पीला या हरा
कौन सा पियें।
********
टॉवर खड़े
घर की छतों पर
रईस हुए।
********
अपनी नहीं
तो दूसरों की साँसे
गिरवी रखीं।
********
तरंगे फैली
तरंगित हृद्गति
खामोश हुई।
********
बहरे हुए
तेज ध्वनि खा गयी
कान हमारे .
*******
ये शहर है
सांस लेना दूभर
विष भरा है.
********
 तराजू तौल
मौत बेचते हैं वे
पैसे लेकर .
********
  

3 टिप्‍पणियां:

रश्मि प्रभा... ने कहा…

अपनी नहीं
तो दूसरों की साँसे
गिरवी रखीं।.... जीना जो था

रेखा श्रीवास्तव ने कहा…

खुद जीना है तो दूसरों को भी जीने दें , लेकिन नहीं सिर्फ हम जियें और दूसरे मरें या जियें.

संजय भास्कर ने कहा…

ओह...गज़ब की अभिव्यक्ति