मंगलवार, 26 जून 2012

हाइकू !

धन संचय
विदेश में ही  होगा
मंत्री जो हैं न
********
प्रजातंत्र का
मजाक बना दिया
संसद में भी। .
********
देश के हित
संसद में निहित
बेचे गए है .
*******
यहाँ कमाओ
विदेश  में  ले जाओ
देशभक्त हो।
*******
शोर   थमा है
 कल चुनाव होगा
दिल थाम लो।
*******
 ताकत  नापो
 सियासत के  लिए
चमचे गिनो।
********
दरवाजे पे
पोस्टर चिपके  है
कैसे ठग है?
********

6 टिप्‍पणियां:

रविकर फैजाबादी ने कहा…

nice

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

सभी हाइकु बढ़िया कटाक्ष कर रहे हैं ....

वन्दना ने कहा…

यहाँ कमाओ
विदेश में ले जाओ
देशभक्त हो। धारदार व्यंग्य करते शानदार हाइकू

Anju (Anu) Chaudhary ने कहा…

व्यंग्य से भरपूर

Udan Tashtari ने कहा…

धारदार!!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

सशक्त और सार्थक प्रस्तुति!